Breaking News

Tuesday, June 22, 2021

हाथरस गैंगरेप पीड़िता का परिवार किन हालत में रहने को है मजबूर, प्रशांत कनौजिया ने की मुलाकात

हाथरस गैंगरेप पीड़िता का परिवार किन हालत में रहने को है मजबूर, प्रशांत कनौजिया ने की मुलाकात 

हाथरस गैंगरेप पीड़िता का परिवार किन हालत में रहने को है मजबूर, प्रशांत कनौजिया ने की मुलाकात

हमारी खबरों को फटाफट पढ़ने के लिए Google News पर हमें Follow करे

 

हाथरस (Hathras) हाथरस में पिछले साल 14 सितंबर को हैवानियत की वो खबर सामने आयी थी जिसको वो परिवार कभी नहीं भूल नहीं पाएगा। करीबन आज उस घटना को लगभग दस महीनो के करीब हो चुके है लेकिन अब उस परिवार की कोई हल पूछने वाला भी नहीं है उस परिवार के साथ क्या हो रहा है यह किसी को पता नहीं है अब जब पत्रकार प्रशांत कनौजिया वहां गए तो हालातो की जानारी लग पाई। 


प्रशांत कनौजिया (Prashant Kanojia) कल हाथरस गैंगरेप पीड़िता का परिवार से मिलने पहुंचे, इस के बाद उन्होंने अपने ट्विटर अकउंट से लिखा कि हाथरस में वाल्मीकि समाज की बेटी के साथ हुए अपराध मामले में परिजनों से मुलाककात की। न मुआवजा, न सरकारी नौकरी, न आवास। परिजन सिर्फ राशन पर ज़िंदा है। लखनऊ जाने का ख़र्च भी खुद उठाना पड़ता है। पीड़ितों से जयंत चौधरी जी ने भी फ़ोन पर बात की। भाजपा राज में दलितों की दुर्गति हुई है।


क्या था हाथरस गैंगरेप मामला ?


उत्तर प्रदेश के हाथरस में 14 सितंबर को 19 साल की एक दलित युवती के साथ गांव के ही चार उची जाती के (संदीप, लवकुश, रवि और रामू ) दरिदों ने युवती के साथ गैंगरेप कि घटना को अंजाम दिया और बड़ी ही बेहरमी से पिटाई भी की। घटना के 15 दिन बाद दिल्ली में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था। इस के बाद 30 सितंबर की रात को पुलिस ने पीड़िता का अंतिम संस्कार परिवार की मर्जी के खिलाफ कर किया था। इस के बाद मामला काफी टूल पकड़ गया था। 



बहुजन समाज की सबसे तेज खबरें पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को लाईक करें, Twitter पर फॉलो भी करे और यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

No comments:

Post a Comment