Breaking News

Wednesday, April 28, 2021

उदयपुर : दो थानों की फोर्स के बीच घोड़ी पर बैठा दलित दूल्हा

उदयपुर  दो थानों की फोर्स के बीच घोड़ी पर बैठा दलित दूल्हा

हमारी खबरों को फटाफट पढ़ने के लिए Google News पर हमें Follow करे


गोगुंदा। देश में आज भी जातिवादी मानसिकता के लोगो के कारण ऊंच-नीच, भेदभाव और जातिवाद के मामले सामने आते हैं । जयपुर के विराटनगर का मामल पुरे देश में चर्चा का विषय रहा है। अब  उदयपुर से एक और मामला सामने आया है जहाँ पर दो थानों की फोर्स के बीच कांस्टेबल दलित दूल्हा घोड़ी पर बैठ सका। 


पूरा ममला क्या था शुरू से शुरू करते है पूरा मामला गोगुंदा थाना क्षेत्र के राव मादड़ा गांव का है। वहां कांस्टेबल कमलेश मेघवाल की शादी थी तो कमलेश को  डर था कि गांव के दबंग लोग उसे घोड़ी से उतार देंगे। इस से परेशान कमलेश मेघवाल ने अपनी सुरक्षा के लिये पुलिस से गुहार लगाई। इस सब में बड़ी बात यह कि दूल्हा खुद राजस्थान पुलिस में कांस्टेबल के पद पर तैनात है। 


दूल्हे कमलेश ने डर के कारण पुलिस अधीक्षक डॉ. राजीव पचार से इस मामले में बात कर सुरक्षा की बात कही। जिसके बाद पुलिस उपाधीक्षक और नायब तहसीलदार के साथ ही दो थानों की फोर्स  के बीच दूल्हा घोड़ी पर बैठ सका। कमलेश ने बताया कि आज भी हमारे  गांव में दलित समाज के लोगों को दबंगो द्वारा घोड़ी पर बिंदोली नहीं निकालने दी जाती है। उन्होंने बताया कि पुलिस की देखरेख में शादी सभी रस्मों को पूरा किया गया है। 




बहुजन समाज की सबसे तेज खबरें पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को लाईक करें, Twitter पर फॉलो भी करे और यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

No comments:

Post a Comment