Breaking News

Wednesday, April 28, 2021

दलित वर्ग को गाली देने मामले में क्रिकेटर युवराज सिंह की बड़ी मुश्किलें, पुलिस ने बताया दोषी

(Yuvraj Singh)


हमारी खबरों को फटाफट पढ़ने के लिए Google News पर हमें Follow करे


चंडीगढ़ (Chandigarh) भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh)की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही है। आप को बताये तो युवराज सिंह के खिलाफ हांसी में एससी/एसटी एक्ट के तहत एक एफआइआर दर्ज है। बुधवार को इस मामले हांसी की एसपी नितिका गहलोत के द्वारा पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में हलफनामा दायर किया, और अब तक की मामले में  की गई स्टेटस रिपोर्ट हाई कोर्ट को साैंपी गई।


एसपी के द्वारा दी रिपोर्ट में कोर्ट को जानकारी दी गई कि जिस अपमानजनक शब्द का प्रयोग युवराज सिंह ने किया गया है वह हरियाणा, चंडीगढ़ व पंजाब में केंद्र के गजट के अनुसार एससी वर्ग के लोगो से संबंधित है। पुलिस ने को कोर्ट को बतया कि जांच में एक सर्वे करवाया गया था जिसमे पूछा गया कि युवराज सिंह द्वारा इस्तेमाल किए गए शब्द के क्या मायने हैं, स्थानीय लोगों के बीच में जब इस का सर्वे करने के बाद सामने आया यह शब्द अनुसूचित जाति के लोगों के लिए अपमानजनक शब्द के रूप में प्रयोग किया जाता है।


 कोर्ट में पुलिस ने दलील दी और बताया कि जब इस शब्द को लेकर गूगल किया तो बतया गया कि  यह सब दलित वर्ग के लिए अपमानजनक टिप्पणी के रूप में प्रयोग होता है। साथ ही पुलिस ने यह भी बतया कि युवराज सिंह द्वारा दी दलील को खारिज क्र दिया। दलील में युवराज  ने बतया कि उन्होंने भांग पीने वालों के लिए इस शब्द का इस्तेमाल किया था। शिकायतकर्ता के वकील अर्जुन श्योराण ने बहस के दौरान यह पुलिस पर आरोप लगाया कि हांसी पुलिस इस मामले मेंअभी तक सही से जांच नहीं की। 



बहुजन समाज की सबसे तेज खबरें पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को लाईक करें, Twitter पर फॉलो भी करे और यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

No comments:

Post a Comment