Breaking News

Thursday, February 25, 2021

नागौर : असामाजिक तत्वों ने दलित दूल्हे को घोड़ी से उतरा, पीड़ित परिवार से सांसद हनुमान बेनीवाल ने की मुलाकात

नागौर : असामाजिक तत्वों ने दलित दूल्हे को घोड़ी से उतरा, पीड़ित परिवार से सांसद हनुमान बेनीवाल ने की मुलाकात


हमारी खबरों को फटाफट पढ़ने के लिए Google News पर हमें Follow करे


खींवसर (Kheenvsar) आज देश को आजाद हुए 70 साल हो गया है लेकिन देश में जातिवाद की जड़े अभी भी बहुत गहरी है। आज भी दलितों के साथ जातीय भेदभाव किया जाता है। राजस्थान से एक बार फिर शर्मशार करने वाली खबर सामने आयी है। खींवसर में गांव के कुछ असामाजिक तत्वों ने दलित समाज के दूल्हे को घोड़ी से उतर दिया गया। नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwa) ने मुलाकात की। 


जानकारी के अनुसार राजस्थान के नागौर जिल में पुलिस थाना खींवसर के ग्राम बिरलोका में असामाजिक तत्वों ने कल शाम को दलित युवक (सुनील मेघवाल ) की शादी थी जब दलित दूल्हे ने बरात को रवाना किया और बिंदोरी के समय गांव के कुछ लोगो ने दलित दूल्हे सुनील को घोड़ी से नीचे उतार दिया और मारपीट की गई। साथ ही पथराव  भी किया गया। इस मामले में आज सर्किट हाउस में अति पुलिस अधीक्षक राजेश मीना व सीओ नागौर विनोद कुमार और पीड़ित परिवार के साथ वार्ता की। इसके साथ ही इस मामले में पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश भी दिए। 


पीड़ित परिवार से मिले सांसद हनुमान बेनीवाल


दलित दूल्हे को घोड़ी से उतार देने के मामले में आज नागौर सर्किट हाउस में संसद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwa) दलित समाज के प्रतिनिधिमंडल के साथ वार्ता की। इस के बाद मिडिया से बात करते हुए बेनीवाल ने कहा कि आजादी के दशकों बाद ऐसी हरकतें करके दलित समाज को अपमानित करना दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि रलपी दलित समाज के हितों के संरक्षण के लिए तत्तपर है !


यह भी पढ़ें : गुजरात : परंपरागत साफा पहनने पर दलित युवक की बारात पर दबंगों ने किया पथराव, जातिगत टिप्पणियां भी कीं




बहुजन समाज की सबसे तेज खबरें पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज 

को लाईक करें, Twitter पर फॉलो भी करे और यूट्यूब चैनल को 

सब्सक्राइब करें।

No comments:

Post a Comment